मो. रफी हिन्दी गीत

ये रेशमी ज़ुल्फें

Ye reshmi julfe lyrics in Hindi

ये रेशमी ज़ुल्फें, ये शरबती आँखें,
इन्हें देख कर जी रहे हैं सभी,
इन्हें देख कर जी रहे हैं सभी,
ये रेशमी ज़ुल्फें, ये शरबती आँखें,
इन्हें देख कर जी रहे हैं सभी,
इन्हें देख कर जी रहे हैं सभी…..

जो ये आँखें शरम से झुक जाएँगी,
सारी बातें यहीं बस रुक जाएँगी,
चुप रहना ये अफ़साना,
कोई इनको ना बतलाना,
के इन्हें देख कर पी रहे हैं सभी,
इन्हें देख कर पी रहे हैं सभी,
ये रेशमी ज़ुल्फें, ये शरबती आँखें,
इन्हें देख कर जी रहे हैं सभी,
इन्हें देख कर जी रहे हैं सभी…..

जुल्फें मगरूर इतनी हो जाएँगी,
दिल को तड़पाएँगी जी को तरसाएँगी,
ये कर देंगी दीवाना,
कोई इनको ना बतलाना,
के इन्हें देखकर जी रहे हैं सभी,
इन्हें देख कर जी रहे हैं सभी,
ये रेशमी ज़ुल्फें, ये शरबती आँखें,
इन्हें देख कर जी रहे हैं सभी,
इन्हें देख कर जी रहे हैं सभी…..

सारे इनकी शिकायत करते हैं,
फिर भी इनसे मोहब्बत करते हैं,
ये क्या जादू है जाने,
फिर चाक गिरेवा दीवानें,
इन्हें देख कर सी रहे हैं सभी,
इन्हें देख कर सी रहे हैं सभी,
ये रेशमी ज़ुल्फें, ये शरबती आँखें,
इन्हें देख कर जी रहे हैं सभी,
इन्हें देख कर जी रहे हैं सभी।

Ye reshmi julfe lyrics in English

Ye reshmi julfein ye sharbati aankhein,
Inhe dekh kar jee rahe hain sabhi,
Inhe dekh kar jee rahe hain sabhi,
Ye reshmi julfein ye sharbati aankhein,
Inhe dekh kar jee rahe hain sabhi,
Inhe dekh kar jee rahe hain sabhi…..

Jo ye aankhein sharam se jhuk jayengi,
Saari baatein yahi bas ruk jayengi,
Chup rahna ye afsana,
Koi inko na batlana,
Ke inhe dekh kar pee rahe hain sabhi,
Inhe dekh kar pee rahe hain sabhi,
Ye reshmi julfein ye sharbati aankhein,
Inhe dekh kar jee rahe hain sabhi,
Inhe dekh kar jee rahe hain sabhi…..

Julfein magroor itni ho jayengi,
Dil ko tadpayengi jee ko tarsayengi,
Ye kar dengi deewana,
Koi inko na batlana,
Ke inhe dekh kar jee rahe hain sabhi,
Inhe dekh kar jee rahe hain sabhi,
Ye reshmi julfein ye sharbati aankhein,
Inhe dekh kar jee rahe hain sabhi,
Inhe dekh kar jee rahe hain sabhi…..

Saare inki shikayat karte hain,
Fir bhi inse mohabbat karte hain,
Ye kya jaadu hai jaane,
Fir chaak gireva deewane,
Inhe dekh kar see rahe hain sabhi,
Inhe dekh kar see rahe hain sabhi,
Ye reshmi julfein ye sharbati aankhein,
Inhe dekh kar jee rahe hain sabhi,
Inhe dekh kar jee rahe hain sabhi.

https://youtu.be/Dn4GsnG0Jtc

Leave a Reply

Your email address will not be published.